Breaking News
यमुना में बढ़ते प्रदूषण के खिलाफ RLD कार्यकर्ताओं ने गर्म बालू से स्नान कर किया प्रदर्शन  |   किसानों को आधुनिक तरीके से खेती के लिए किया जाए प्रेरित: योगी  |   उन्नाव गैंगरेप कांडः बीजेपी विधायक और शशि सिंह की पॉक्सो कोर्ट में आज होगी पेशी  |   आम महोत्सव में 700 प्रजातियों का होगा प्रर्दशन, योगी 23 जून को करेंगे उद्घाटन  |   हापुड़ में भीषण सड़क हादसा: कार सवार 6 लोगों की मौके पर दर्दनाक मौत  |  
 
 
दैनिक यूपी ब्यूरो
14/06/2018  :  00:29 HH:MM
फोन कंपनि‍यां अब नहीं रख पाएंगी आपके आधार की डि‍टेल, जारी हुए आदेश
Total View  13

नया फोन लेने या वैरि‍फि‍केशन के वक्‍त जो दस्‍तावेज काम आते हैं उनमें आधार भी एक है। अभी तक कंपनि‍यां इसका डाटा भी अपने पास रख लेती थीं, मगर अब ऐसा नहीं होगा।

अब आपके आधार कार्ड की जानकारी और सुरक्षित होने जा रही है। अब दूरसंचार कंपनियां आपके आधार नंबर की जानकारी ना तो अपने किसी भी सिस्टम पर डिस्पले कर सकेंगी और ना ही उसे अपने डाटाबेस में रख पाएंगी। डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्युनिकेशन ने ये आदेश जारी किया है।

नया फोन लेने या वैरिफिकेशन के वक् जो दस्तावेज काम आते हैं उनमें आधार भी एक है। अभी तक कंपनियां इसका डाटा भी अपने पास रख लेती थीं, मगर अब ऐसा नहीं होगा। इससे नया सि कार्ड लेते वक् या पुराने को वैरिफाई करने के दौरान वर्चुअल आईडी के इस्तेमाल का रास्ता साफ हो गया है। वर्चुअल आईडी आधार के विकल् के तौर पर काम करेगी।

नया सिस्टम बनाएं कंपनियां

डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्युनिकेशन (DoT) की ओर से जारी एक सर्कुलर में कहा गया है किआधार नंबर की प्राइवेसी और सुरक्षा को और पुख्ता करने के लि यूआईडीएआई ने आधार ईकोसिस्टम में कुछ बदलाव का प्रस्ताव दिया है। डीओटी ने मोबाइल कंपनियों से अपनी प्रक्रिया में बदलाव करने को कहा है जैसे वर्चुअल आईडी सिस्टम को लागू करना और एक नया सिस्टम बनाना, जिसमें कंपनी के पास यूजर के डाटा की सीमि पहुंच हो।

शुरू हुई वर्चुअल आईडी

UIDAI ने इसी साल अप्रैल में वुर्चअल आईडी की सुविधा को शुरू किया था। इसके तहत आधार नंबर की जगह 16 अंकों वाला एक पहचान नंबर जनरेट किया जाएगा और जहां भी आधार की जरूरत होगी वहां यह नंबर दिया जाएगा। ये नंबर कोई भी शख् अपने मोबाइल से जनरेट कर पाएगा। ये जुड़ा तो आधार से होगा मगर आधार नंबर नहीं होगा। आधार नंबर के लीक होने की खबरों के बाद यह कदम उठाया गया है।

इसके अलावा डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम ने मोबाइल ऑपरेटर कंपनियों से ये भी कहा है कि वह आधार वर्चुअल आईडी की डिटेल अपने पास नहीं रखेंगी। इसके अलावा जब किसी कस्टमर का वैरिफिकेशन हो रहा होगा तब भी वुर्चअल आईडी पर आधार नंबर नहीं दिखाई देना चाहिए। यह वैसे ही दिखना चाहि जैसे पासवर्ड वगैरा दिखता है यानी मास्किंग के साथ। डिपार्टमेंट की तरफ से हिदायत जारी की गई है कि अगर गाइडलाइंस का पालन करने में किसी तरह की गड़बड़ी पाई जाती है तो कार्रवाई की जाएगी।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   344134
 
     
Related Links :-
लोन लेकर घर खरीदने वालों को RBI ने दी बड़ी राहत
IDEA-Vodafone के विलय को आज मिल सकती है मंजूरी, बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी!
Airtel विवादः कंपनी ने ट्वीट कर पेश की सफाई, कहा- हम धार्मिक कट्टरता के आगे नहीं झुके
ट्रेन हुई लेट तो यात्रियों के लिए फ्री खाने-पीने की व्यवस्था करेगा रेलवे
वीडियोकॉन घोटाला: जांच पूरी होने तक चंदा कोचर की छुट्टी, संदीप बख्शी बने ICICI बैंक के COO
सोने-चांदी की कीमतों में भारी गिरावट, जानें आज के दाम
आयुष्मान भारत योजनाः पेमेंट में देरी करने पर बीमा कंपनियों पर लगेगा जुर्माना
भारतीयों को US का ग्रीन कार्ड मिलने में लगेंगे 151 सालः रिपोर्ट
खाद्य तेलों का इंपोर्ट होगा महंगा, सरकार ने क्रूड-रिफाइंड सॉफ्ट इडिबल ऑयल बढ़ाई ड्यूटी
जनरल मोटर्स की पहली महिला CFO बनीं भारतीय मूल की दिव्या सूर्यदेवरा
 
CopyRight 2016 DanikUp.com