Breaking News
यमुना में बढ़ते प्रदूषण के खिलाफ RLD कार्यकर्ताओं ने गर्म बालू से स्नान कर किया प्रदर्शन  |   किसानों को आधुनिक तरीके से खेती के लिए किया जाए प्रेरित: योगी  |   उन्नाव गैंगरेप कांडः बीजेपी विधायक और शशि सिंह की पॉक्सो कोर्ट में आज होगी पेशी  |   आम महोत्सव में 700 प्रजातियों का होगा प्रर्दशन, योगी 23 जून को करेंगे उद्घाटन  |   हापुड़ में भीषण सड़क हादसा: कार सवार 6 लोगों की मौके पर दर्दनाक मौत  |  
 
 
दैनिक यूपी ब्यूरो
04/06/2018  :  13:42 HH:MM
राउत बोले-भाजपा है शिवसेना की सबसे बड़ी ‘राजनीतिक शत्रु’
Total View  65

राउत ने कहा कि देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह दोनों को नहीं चाहता है लेकिन कांग्रेस या जद (एस) नेता एचडी देवगौड़ा को स्वीकार कर सकता है।

पालघर में हालिया लोकसभा उपचुनाव के बाद शिवसेना के सांसद संजय राउत ने रविवार को भाजपा पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि वह उनकी पार्टी की सबसे बड़ी राजनीतिक शत्रुहै। राउत ने कहा कि देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह दोनों को नहीं चाहता है लेकिन कांग्रेस या जद (एस) नेता एचडी देवगौड़ा को स्वीकार कर सकता है।

  शिवसेना को कमजोर कर रही भाजपा

राउत ने शिवसेना के मुखपत्र सामना में प्रकाशितरोख ठोक स्तंभ में कहा कि शिवसेना भाजपा की सबसे बड़ी राजनीतिक शत्रु है। शिवसेना का प्रखर हिन्दुत्ववाद भाजपा के लिए अड़चन पैदा कर सकता है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने पालघर में चिंचतामण वनगा के बेटे (शिवसेना के उम्मीदवार) को हराकर उन्हें श्रद्धाजंलि दी।

इस सीट पर चिंचतामण वनगा के निधन के चलते उपचुनाव आवश्यक हो गया था। राउत ने आरोप लगाया कि शिवसेना भाजपा की मुख्य राजनीतिक विरोधी है, इसलिए उनकी योजना उद्धव ठाकरे की पार्टी के साथ सत्ता में रहते हुए उसे कमजोर करने की है।

जनता मोदी और शाह को नहीं करेगी स्वीकार

राउत ने दावा किया कि भाजपा ने पालघर उपचुनाव में शिवसेना की हार सुनिश्चित करने के लिए अपने संसाधनों का इस्तेमाल किया। उन्होंने पालघर में ईवीएम मेंगड़बड़ी की वजह से भाजपा की जीत हुई। उन्होंने कहा कि भाजपा पालघर लोकसभा उपचुनाव जीतने में सफल रही लेकिन कई अन्य लोकसभा और विधानसभा उपचुनाव हार गई। इससे दिखता है कि देश में कई जगह बदली हुई हवा चल रही है। सांसद ने कहा कि उपचुनाव परिणाम भाजपा के पतन की शुरुआत हैं। देश की ऐसी स्थिति है कि वह कांग्रेस या देवगौड़ा को स्वीकार कर सकता है , लेकिन मोदी और शाह को नहीं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   9248995
 
     
Related Links :-
समर्थन वापसी से ही नहीं, भाजपा की इस ‘हरकत’ से भी हैरान रह गई थीं महबूबा
नीति आयोग की श्रीनगर में होने वाली बैठक टली
मुंबई में योग दिवस के कार्यक्रम में शिरकत करेंगे उप राष्ट्रपति
पार्टी कार्यकर्ताओं की हत्या के खिलाफ भाजपा ने प्रदर्शन किया
किसानों के कर्ज माफी की जिम्मेदारी कुमारस्वामी की: येदियुरप्पा
भारत ने ठुकराया चीन का त्रिपक्षीय सुझाव
तेलंगाना के महत्वपूर्ण मुद्दों को उठाने में विफल चंद्रशेखर: कांग्रेस
ओडिशा में अस्पताल संबंधी वादे को लेकर राहुल का पीएम मोदी पर हमला
बाबा रामदेव के बदले सुर, बोले-राहुल गांधी से मेरा रिश्ता दोस्ताना
शहीद जवान के पिता बोले, 72 घंटे में कातिलों को मारे मोदी सरकार, वर्ना मैं लूंगा बदला
 
CopyRight 2016 DanikUp.com