Breaking News
सेना में महिला अफसरों को स्थायी कमीशन का एलान  |   2022 तक अंतरिक्ष में मानव मिशन भेजने का एलान  |   प्रधानमंत्री ने की तीन तलाक की चर्चा  |   82 मिनट के भाषण में पीएम मोदी ने पेश किया सरकार के कामकाज का लेखा जोखा  |   लाल किले के प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 सितंबर से आयुष्मान भारत शुरू करने का किया एलान  |  
 
 
दैनिक यूपी ब्यूरो
01/06/2018  :  13:34 HH:MM
वीडियोकॉन लोन मामलाः जांच शुरू होने के 2 दिन बाद छुट्टी पर गई चंदा कोचर
Total View  61

चंदा कोचर के छुट्टी पर जाने की खबर आने के बाद आई.सी.आई.सी.आई. बैंक के शेयरों में तेजी देखने को मिल रही है। फिलहाल निफ्टी पर बैंक के शेयर 3 फीसदी तक ऊपर चढ़े हैं।

मुंबईः वीडियोकॉन लोन मामले में फंसी आई.सी.आई.सी.आई. बैंक की मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ चंदा कोचर छुट्टी पर चली गई हैं। हाल में बैंक बोर्ड की ओर कोचर के खिलाफ स्वतंत्र जांच के फैसले के तुरंत बाद बाद उनका इस तरह छुट्टी पर जाना कई सवाल खड़े कर रहा है।

चंदा कोचर के छुट्टी पर जाने की खबर आने के बाद आई.सी.आई.सी.आई. बैंक के शेयरों में तेजी देखने को मिल रही है। फिलहाल निफ्टी पर बैंक के शेयर 3 फीसदी तक ऊपर चढ़े हैं।

चंदा कोचर और उनकी फैमली पर आरोप है कि वीडियोकॉन ग्रुप को लोन देने में उन्हें निजी तौर पर लाभ हासिल हुआ है। इसी के बाद बैंक ने चंदा के खिलाफ लोन बांटने मेंकान्फ्लिक्ट ऑफ इंटरेस्ट्र और निजी लाभ के लिए काम करने के आरोपों की स्वतंत्र जांच कराने का आदेश दिया।

बैंक ने कहा पहले से प्लान थी छुट्टी

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि उन्हें अनिश्चित काल के लिए छुट्टी पर भेज दिया है। चंदा को छुट्टी पर भेजने का फैसला बोर्ड की ओर से लिया गया। हालांकि इसके बाद बैंक बोर्ड ने एक बयान जारी करके साफ कर दिया कि कोचर को छुट्टी पर जाने के लिए नहीं कहा गया है। वह अपनी सालाना छुट्टी पर गई हैं। यह छुट्टी पहले से ही प्लान थी। बोर्ड ने इन अटकलों को भी खारिज कर दिया, जिसमें कहा जा रहा था कि बोर्ड ने चंदा कोचर का उत्तराधिकारी नियुक् करने के लिए एक सर्च कमेटी का गठन किया है।  

 

बोर्ड की बैठक में हुआ था जांच का फैसला

इससे पहले बुधवार को हुई बैंक को बोर्ड की बैठक में चंदा कोचर के खिलाफ स्वतंत्र जांच कराने का फैसला हुआ था। एक अज्ञात व्हिसिल ब्लोअर की शिकायत के बाद यह जांच कराई जा रही है। बैंक ने रेग्युलेटरी फाइलिंग में यह जानकारी दी है। इसमें बताया गया है कि पूछताछ का दायरा व्यापक होगा और तथ्यों की जांच के दौरान और जहां भी जरूरी होगा फोरेंसिक जांच के अलावा -मेल की भी समीक्षा हो सकती है। जरूरी हुआ तो जुड़े हुए कर्मचारियों के बयान भी लिए जा सकते हैं। इसके अलावा स्वतंत्र जांच करने वाले के पास अन् व्हिसिल ब्लोअर की शिकायतों की जांच का जिम्मा भी होगा। रिपोर्ट के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट के किसी रिटायर्ड जज की अध्यक्षता में यह स्वतंत्र जांच कराई जाएगी।

सेबी ने भी शुरू की जांच

आई.सी.आई.सी.आई. बैंक पर मार्केट रेग्युलेटर सेबी की भी नजर है। सेबी ने किसी भी संभावित डिसक्लोजर और कॉरपोरेट गवर्नैंस से संबंधित खामियों के मामले में जांच शुरू कर दी है। इसके साथ ही आई.सी.आई.सी.आई. बैंक और कुछ सरकारी बैंकों सहित लेंडर्स ग्रुप से लोन लेने मेंलेनदेन के आरोपों के कारण वीडियोकॉन और इंडस्ट्रीज और उसके प्रमोटर भी सेबी के रडार पर गए हैं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   197132
 
     
Related Links :-
फिर बढ़े पैट्रोल-डीजल के दाम, लोगों पर महंगाई की मार
नीरव मोदी की कंपनियों से ज्वेलरी खरीदने वाले अमीरों की ITR जांचेगा आयकर विभाग
वाराणसी के छोटे निर्यातकों के लिए डाक विभाग जल्द खोलेगा IBC
खाद्य तेलों का इंपोर्ट होगा महंगा, सरकार ने क्रूड-रिफाइंड सॉफ्ट इडिबल ऑयल बढ़ाई ड्यूटी
जनरल मोटर्स की पहली महिला CFO बनीं भारतीय मूल की दिव्या सूर्यदेवरा
इंफोसिस मना रहा सिल्वर जुबली, 25 साल में कंपनी ने देखे काफी उतार-चढ़ाव
फोन कंपनि‍यां अब नहीं रख पाएंगी आपके आधार की डि‍टेल, जारी हुए आदेश
चालू खाते का घाटा 2017-18 में तीन गुना से अधिक बढ़ा
जीवन बीमा कंपनियों का नए कारोबार से प्रीमियम संग्रह मई में 9% बढ़ा
दिवालिया कानून में बदलाव से घर खरीदारों को मिली बड़ी राहत
 
CopyRight 2016 DanikUp.com