Breaking News
विजय रूपाणी ने की योगी से मुलाकात, UP के लोगों की सुरक्षा का दिलाया भरोसा  |   अडानी के चार्टर प्लेन में UP पहुंचे रूपाणी, राजनीतिक हलचल तेज  |   यूपी-गुजरात के एकता संवाद में बोले योगी-गुजरात देश के विकास का मॉडल  |   राफेल सौदे को लेकर केंद्र की राजग सरकार पर बरसे शत्रुघ्न सिन्हा  |   शाहजहांपुर में गिरी निर्माणाधीन बिल्डिंग को लेकर रेस्क्यू ऑपरेशन पूरा, 3 की मौत  |  
 
 
दैनिक यूपी ब्यूरो
31/05/2018  :  12:36 HH:MM
मुख्य सचिव हाथापाई मामला: केजरीवाल की याचिका खारिज
Total View  98

अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल ने केजरीवाल की याचिका को खारिज करते हुए दिल्ली पुलिस की उस टिप्पणी का जिक्र किया कि ऐसे किसी भी बयान को उपलब्ध कराना उसकी जांच के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

नई दिल्ली : दिल्ली की एक अदालत ने मुख्यमंत्री केजरीवाल की उस याचिका को खारिज कर दिया है जिसमें उन्होंने मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ कथित हाथापाई मामले में 18 मई को पुलिस द्वारा दर्ज किए गए उनके बयान की प्रति और वीडियो की प्रति मांगी थी। 

अदालत ने कहा , ‘जांच एजेंसी कानून के तहत किसी भी व्यक्ति को बयान की प्रति देने के लिए बाध्य नहीं है जिसका बयान उसने दर्ज किया है। यह खासतौर पर तब लागू होती है जबकि यह स्पष्ट नहीं हो कि उस व्यक्ति को आरोपी बनाया जाएगा अथवा गवाह। साथ ही जांच एजेंसी का मानना है कि ऐसे किसी भी बयान को किसी को भी सौंपना उसकी जांच के लिए नुकसानदायक होगा।

दरअसल केजरीवाल ने अपनी अर्जी में कहा है कि उस दिन कार्यवाही के बाद पुलिस ने मीडिया से कहा था कि वह ठीक ठीक जवाब नहीं दे कर कुछ प्रश्नों को टाल गए थे , जो किपूरी तरह से गलत है। अर्जी में कहा गया , ‘मीडिया के समक्ष पुलिस का आचरण यह संकेत देता है कि उन्हें अथवा आम आदमी पार्टी के किसी भी सदस्य पर आरोप लगाने के लिए पुलिस बयान / सीडी में छेडछाड करके किसी भी हद तक जा सकती है। इसमें कहा गया कि केजरीवान बयान और सीडी की प्रति पाने के हकदार हैं।

दिल्ली पुलिस ने अंशु प्रकाश के साथ कथित मारपीट के मामले में 18 मई को केजरीवाल से कम से कम तीन घंटे तक पूछताछ की थी। अंशु प्रकाश पर 19 अप्रैल को केजरीवाल के आधिकारिक आवास पर हुई बैठक में कथित तौर पर हमला किया गया था। पुलिस ने कहा था कि जब कथित तौर पर हमला हुआ था, मुख्यमंत्री वहां मौजूद थे।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4811305
 
     
Related Links :-
शशि थरूर का विवादित बयान, कहा- अच्छा हिंदू अयोध्या में नहीं चाहता राम मंदिर
विजय रूपाणी ने की योगी से मुलाकात, UP के लोगों की सुरक्षा का दिलाया भरोसा
भाजपा कर रही है मजहब और जाति की राजनीति: सपा
दशहरे के बाद कई विभाग छोड़ सकते हैं पर्रिकर: केन्द्रीय मंत्री
राम मंदिर का मामला SC में विचाराधीन, इसमें सरकार की भूमिका नहीं: केशव मौर्य
कांग्रेस का दावा, मोदी सरकार में बैंकों को लगा 3 लाख करोड़ अधिक का 'बट्टा'
सीता की बजाय नीता के पति की चिंता करने में लगे हैं PM मोदी: तोगड़िया
राम मंदिर मामला, रिजवी ने औवेसी को बताया बिना मूंछ का रावण
राफेल पर सरकार के झूठ का पर्दाफाश : कांग्रेस
बंगाल कांग्रेस में फेरबदल, सोमेंद्र नाथ मित्रा को बनाया प्रदेश अध्यक्ष
 
CopyRight 2016 DanikUp.com