Breaking News
कैबीनेट मंत्री राजभर का दावा, राममंदिर पर अध्यादेश कभी नहीं लाएगी बीजेपी  |   मिशन 2019: बीजेपी की गांव-गांव, पांव-पांव पदयात्रा आज से शुरू।  |   लोकसभा चुनाव से पहले अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी को एक बड़ा तोहफा दे सकते हैं पीएम मोदी।  |   आरएसएस ने फिर रटा राम का नाम कहा 2019 में होगा राम मंदिर का निर्माण, दिल्ली में आज से रथ यात्रा शुरू  |   हनुमान को दलित बताने वाले योगी आदित्यनाथ के बयान पर आजम ने कसा तंज कहा समझ नहीं आ रहा रोएं या हसें  |  
 
 
दैनिक यूपी ब्यूरो
08/12/2017  :  17:53 HH:MM
PAK ने कुलभूषण की मां-पत्नी को दी मिलने की इजाजत, 25 दिसंबर को होगी मुलाकात
Total View  124

पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव से मिलने के लिए उनकी मां और पत्नी को इजाजत दे दी है. पड़ोसी मुल्क की ओर कहा गया है कि कुलभूषण की मां अपने साथ उनकी पत्नी को भी ला सकती है.

पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव से मिलने के लिए उनकी मां और पत्नी को इजाजत दे दी है. पड़ोसी मुल्क की ओर कहा गया है कि कुलभूषण की मां अपने साथ उनकी पत्नी को भी ला सकती है. यह मुलाकात 25 दिसंबर को होनी चाहिये. इसके साथ ही भारतीय उच्यायोग का कोई अधिकारी उनके साथ हो सकता है.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इस बारे में ट्वीट कर जानकारी दी है. स्वराज ने ट्विटर पर लिखा कि पाकिस्तान की सरकार ने सूचित किया है कि वे कुलभूषण की मां और पत्नी को वीजा देंगे. मैंने इस बारे में जाधव की मां अवंतिका जाधव से बात की है और उन्हें इस बारे में बताया है.

बता दें कि नवंबर महीने में पाकिस्तान ने भारत को सूचित किया था कि वह जाधव और उसकी पत्नी को मानवीय आधार पर मिलने की अनुमति देने के लिए तैयार है. इससे पहले भारत ने पाकिस्तान से अनुरोध किया था कि पहले जाधव की मां को मिलने की इजाजत दी जाए. जाधव को पाकिस्तान में फांसी की सजा सुनाई गई है.

ताजा घटनाक्रम में पाकिस्तान ने जाधव की पत्नी और मां दोनों को मिलने की स्वीकृति दे दी है. पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल ने शुक्रवार को इस बारे में जानकारी दी है.

खबरों के मुताबिक भारत ने कुलभूषण जाधव की मां अवंती जाधव के लिए एक अतिरिक्त वीजा और उन्हें अपने बेटे से मिलने देने की अनुमति की मांग की थी. बता दें कि जाधव की मां ने इस साल की शुरुआत में नई दिल्ली स्थित पाकिस्तान उच्चायोग के समक्ष वीजा आवेदन दायर किया था.

हालांकि भारत ने जाधव की पत्नी को अकेले पाकिस्तान भेजने में अनिच्छा व्यक्त की और जोर देकर कहा था कि उनकी मां का आवेदन भी स्वीकृत किया जाना चाहिए. भारत का कहना है कि जाधव की मां को अपने बेटे से मिलने का अधिकार है.

पाकिस्तान का दावा है कि भारतीय नौसेना का कमांडर जाधव भारत की प्रमुख खुफिया एजेंसी, रिसर्च एंड एनलिसिस विंग(रॉ) के लिए काम कर रहा था. इस्लामाबाद का कहना है कि तीन मार्च, 2016 को बलूचिस्तान में कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने उसे अवैध रूप से पाकिस्तान में पकड़ लिया था. भारत ने कहा है कि जाधव एक पूर्व नौसेना अधिकारी हैं और वह रॉ के लिए काम नहीं कर रहे थे.

पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने जाधव को जासूसी के आरोपों में फांसी की सजा सुनाई है. हालांकि अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय ने अपने आदेश में इस पर रोक लगा दी है. नई दिल्ली ने जाधव को वकील मुहैया कराने की मांग पर जोर दिया है, लेकिन इस्लामाबाद ने इस आधार पर अनुमति देने से इनकार कर दिया है कि जासूसों से संबंधित मामलों में इस तरह की मदद लागू नहीं.

 

 






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1315351
 
     
Related Links :-
'लौह महिला' इंदिरा गांधी की जयंती आज, जानिए-उनके जीवन से जुड़े कुछ खास पहलू
#MeToo: एमजे अकबर ने पत्रकार प्रिया रमाणी पर ठोका मानहानि का केस
विवादित उपदेशक जाकिर की बढ़ी मुश्किलें, NIA ने संपत्तियां जब्त करने का दिया आदेश
नन बलात्कार मामले के आरोपी बिशप फ्रैंको कोच्चि में गिरफ्तार
तोगड़िया का BJP पर तंज- खुद के लिए 500 करोड़ का बनवाया कार्यालय, रामलला टेंट में विराजमान
माल्या विवाद में जेतली को मिला शिवसेना का साथ, कहा- कांग्रेस के आरोप ‘हास्यास्पद’
तेलंगाना की सभी विधानसभा सीटों पर BJP लड़ेगी चुनाव: शाह
पाक की तारीफ कर घिरे सिद्धू, भाजपा ने कांग्रेस से मांगा जवाब
पाकिस्तान को जबाव दें PM मोदी, कांग्रेस सरकार के साथ
मायावती के आरोपों पर अठावले का तीखा पलटवार, कहा- भारत बंद विपक्ष की चाल
 
CopyRight 2016 DanikUp.com