Breaking News
कैबीनेट मंत्री राजभर का दावा, राममंदिर पर अध्यादेश कभी नहीं लाएगी बीजेपी  |   मिशन 2019: बीजेपी की गांव-गांव, पांव-पांव पदयात्रा आज से शुरू।  |   लोकसभा चुनाव से पहले अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी को एक बड़ा तोहफा दे सकते हैं पीएम मोदी।  |   आरएसएस ने फिर रटा राम का नाम कहा 2019 में होगा राम मंदिर का निर्माण, दिल्ली में आज से रथ यात्रा शुरू  |   हनुमान को दलित बताने वाले योगी आदित्यनाथ के बयान पर आजम ने कसा तंज कहा समझ नहीं आ रहा रोएं या हसें  |  
 
 
दैनिक यूपी ब्यूरो
30/11/2017  :  21:19 HH:MM
पद्मावती के नायक-नायिका समेत छह के खिलाफ वाद
Total View  135

पद्मावती के नायक-नायिका समेत छह के खिलाफ वाद, अब मुस्लिम समाज खफापद्मावती के नायक-नायिका समेत छह के खिलाफ वाद, अब मुस्लिम समाज खफापद्मावती फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली और कलाकारों के खिलाफ बिजनौर में वाद दायर किया गया है। मुस्लिम समाज ने फिल्म को लेकर विरोध जताया है।

बिजनौर पद्मावती फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंसाली और फिल्म के कलाकारों के खिलाफ नजीबाबाद में वाद दायर किया गया है। विहिप के पूर्व जिलाध्यक्ष और एडवोकेट सुधीर कुमार ने फिल्म पद्मावती के डायरेक्टर संजय लीला भंसाली, शाहिद कपूर, दीपिका पादुकोण, रणवीर कपूर, अदिली राय हैदर और जिम के विरुद्ध न्यायिक मजिस्ट्रेट नजीबाबाद के न्यायालय में दायर वाद में कहा है कि रानी पद्मावती वीरांगना थी और पूरा हिंदू समाज उन्हें सम्मान की नजर से देखता है। फिल्म में रानी पद्मावती को नर्तकी के रूप में प्रस्तुत कर नारी जाति के अपमान के साथ-साथ राजपूतों के गौरवशाली इतिहास से छेड़छाड़ करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि क्षत्रिय समाज के 36 कुल है और रानी पद्मावती ने सभी 36 कुलों की परदादी हैं। अधिवक्ता सुधीर कुमार ने इतिहास से छेड़छाड़ करने वाले इन सभी लोगों के खिलाफ वाद दायर कर कार्रवाई की मांग की।

अब मुस्लिम समाज खफा

फिल्म पद्मावती के खिलाफ राजपूत समाज का विरोध प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है कि इस बीच मुस्लिम समाज ने भी फिल्म को लेकर विरोध जताया है। सहारनपुर में तंजीम उलेमा हिंद के प्रदेश अध्यक्ष मौलाना नदीमुल वाजदी ने फिल्म में सुलतान अलाउद्दीन खिलजी को जालिम बादशाह दिलफेंक आशिक दिखाए जाने पर ऐतराज जताया है। उनका कहना है कि अलाउद्दीन खिलजी एक जिम्मेदार शासक था। फिल्म में उसका चित्रण जिस तरह किया गया है,वह उचित नहीं है। गुरुवार को पत्रकार वार्ता में मौलाना नदीमुल वाजदी ने कहा कि इतिहास में पद्मावती नाम की कोई शख्सीयत नहीं मिलती और ही कोई ऐसा साक्ष्य मिलता है कि अलाउद्दीन पद्मावती नाम की महिला को हासिल करना चाहता था। उन्होंने कहा कि  अलाउद्दीन खिलजी ने चित्तौडग़ढ़ पर हमले की वजह केवल राज्य विस्तार था।

 






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   9397354
 
     
Related Links :-
इंटेलिजेंस रिपोर्ट में खुलासा: एक ही हथियार से हुई इंस्पेक्टर सुबोध और सुमित की हत्या
मैं ही मोदी हूं, मैं ही योगी हूं
इलाहाबाद का नाम बदलना अस्था व परम्परा के साथ खिलवाड़: अखिलेश
शिवपाल यादव को राज्य संपत्ति विभाग ने अलॉट किया नया बंगला, पहले हुआ करता था BSP कार्यालय
लखनऊ: ब्रह्मोस इंजीनियर निशांत को CJM कोर्ट ने 7 दिनों की पुलिस कस्टडी में भेजा
जिन्होंने मोदी को वाराणसी में जिताया, उन पर गुजरात में हमलाः मायावती
योगी सरकार ने हटाई शस्त्र लाइसेंस पर लगी रोक, अब इन नियमों के तहत होगी हथियार प्राप्ति
नाराज चल रहे सिपाहियों को दशहरे से पहले बड़ा 'तोहफा' देगी योगी सरकार
योगी सरकार में भी नहीं बन रहे गरीबों के राशन कार्ड
किसानों से किए गए एक भी वादे को सरकार ने नहीं किया पूरा: अखिलेश
 
CopyRight 2016 DanikUp.com