Breaking News
राफेल अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी की माफी स्वीकार की  |   सबरीमाला मंदिर में प्रवेश का मामला सात जजो की बेंच को भेजा गया  |   राफेल की पुनर्विचार याचिका खारिज  |   आरटीआई कानून के दायरे में आएगा मुख्य न्यायाधीश का दफ्तर  |   महाराष्ट्र में सरकार के लिए कांग्रेस की समिति एनसीपी से बात करेगी  |  

धर्म

बादशाहपुर में श्रीमद कथा का शुभारंभ कलश यात्रा में 501 महिलाओं ने भाग लिया
बादशाहपुरत्नश्री कृष्णामृत समिति के तत्वावधान में आयोजित श्रीमद कथा का हुआ शुभारंभ। भागवत कथा शुरू होने से पहले महिलाओं ने पूरे गांव में कलश यात्रा निकाली कलश यात्रा में 501 महिलाओं ने भाग लिया मुकेश जैलदार, दिनेश यादव (सनस्टील) और दिनेश यादव दिलवालिया के निरीक्षण में कथा के पहले दिन भव्य शोभा यात्रा निकाली गई। प्रथम दिवस कथा के माहात्म्य का वर्णन करते हुए साध्वी प्रियंका जी ने बताया कि श्रीमद भागवत कथा विशुद्ध ज्ञान विग्रह एवं आध्यात्मिक रस वितरण की सार्वजनिक ह्रश्वयाऊ है। ये कथा व्यक्ति के अंदर भक्ति और ज्ञान का संचार करती है। कल कथा में पाण्डव चरित्र और भीष्म चरित्र पर प्रकाश डाला जाएगा। समस्त बादशाहपुर वासियों ने कथा में बढ चढक़र सहभागिता निभाई। कथा विश्राम पर इस्कॉन मंदिर से भी कुछ संतों ने कथा में अपनी उपस्थिति दर्ज करायी। मुकेश जैलदार ने बताया कि 19 मार्च को फूलों की होली महोत्सव का आयोजन भव्य रूप से किया जाएगा।
 
गुरुग्राम और फरीदाबाद मंडलों की भजन पार्टियों की ३ दिवसीय कार्यशाला
गुरुग्रामत्न सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग हरियाणा द्वारा गुरुग्राम में आज से गुरुग्राम व फरीदाबाद मण्डलों की भजन पार्टियों तथा खण्ड प्रचार कार्यकर्ताओं की तीन दिवसीय कार्यशाला शुरू की गई जिसमें प्रख्यात रंगकर्मी महेश वशिष्ठ मुख्य अतिथि थे। कार्याशाला के प्रतिभागीयों को संबोधित करते हुए वशिष्ठ ने कहा कि विभाग के लोक कलाकार अपनी रचनाओं में आम लोगों से जुड़ाव लेकर आएं।
 
धूमधाम से मना आठवां श्री श्याम स्थापना महोत्सव
नई दिल्ली पूर्वी दिल्ली के लक्ष्मी नगर स्थित श्री दुर्गा एवं श्याम मंदिर में आठवां श्री श्याम स्थापना महोत्सव बड़ी धूमधाम के साथ मनाया गया जिसमें दो दिन निशान यात्रा और स्थापना महोत्सव में 15 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं ने हिस्सा लिया।
 
शाम के समय न करें ये काम
वास्तु शास्त्र में आर्थिक स्थिति को मजबूत और धनस ंपत्ति बढ़ाने के लिए कुछ बातें बताई गई हैं। इसके साथ ही इस शास्त्र में किसी विशेष समय कुछ चीजें करने से भी मनाही है। जिससे आपके ऊपर कर्जा नहीं बढ़ता और घर में लक्ष्मी जी का वास होता है।
 
सर्वहारा के देवता भगवान शिव
यह गाथा सबको ज्ञात है कि रावण पर विजय के लिये भगवान राम ने समुद्र तट पर शिव पूजा की थी। इसी कारण इस स्थान को रामेश्वरम नाम दिया गया। यह कथा भी सर्वज्ञात है कि जब देवों और दानवों ने समुद्र मंथन किया तब सबसे पहिले हलाहल प्राप्त हुआ।
 
आठ हजार लोगों को कुंभ स्नान कराने पर हो रही सराहना विधायक अग्रवाल को साधु संतों ने दिया आर्शीवाद
गुरुग्राम नि:स्वार्थ भाव से आठ हजार से अधिक लोगों को कुंभ स्नान कराना बहुत ही पुण्य का काम है। हमने अपने जीवन में आज तक ऐसा कोई राजनैतिक व्यक्ति नहीं देखा जो एक साथ इतने श्रद्धालुओं को कुंभ स्नान कराने ले गया हो।
 
महाशिवरात्रि का महत्व
महाशिवरात्रि हिंदू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक है। महाशिवरात्रि के पर्व पर भगवान शिव की आराधना का काफी महत्व है। मान्यता है कि महाशिवरात्रि के पर्व पर भोले बाबा की आराधना करने से मां पार्वती और भोले त्रिपुरारी अपने भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं। महाशिवरात्रि के दिन शिव मंदिरों में भक्त दर्शन के लिए आकर अपनी भक्ति से शिव जी को प्रसन्न करते हैं। महाशिवरात्रि का पर्व 4 मार्च को मनाया जाएगा।
 
प्रधानमंत्री ने प्रयागराज में स्वच्छ कुंभ, स्वच्छ आभार कार्यक्रम को संबोधित किया
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने आज प्रयागराज में स्वच्छ कुंभ, स्वच्छ आभार कार्यक्रम को संबोधित किया।
 
किन्नरों के राजतिलक की साक्षी बनीं चारों दिशाएं, कुंभ में शाही स्नान को पहुंचे
किन्नर अखाड़े की महामंडलेश्वर लक्ष्मीनारायण त्रिपाठी के साथ भवानी और गुरुमाता के साथ श्रद्धालुओं का बड़ा हुजूम तट किनारे तक पहुंचा।
 
ये उपाय आपको बना सकते हैं धनवान
पैसा तो खूब आता है, मगर उसके आने सेपहले ही खर्च के रास्ते बन जाते हैं। अगर आप भी इसीतरह की परेशानी से जूझ रहे हैं तो यह उपाय आपकीमदद कर सकते हैं। कभी-कभी इन दिक्कतों के लिएवास्तुदोष जिम्मेदार होता है।
 
खूबसूरत तवायफ की देशभक्ति, जान दे दी मगर राज नहीं बताया
तात्या टोपे के नजदीक पहुंचकर उन्होंने सभी क्रांतिकारियों की खूब मदद की, मगर यह ज्यादा दिन चल नहीं सका। एक रोज उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।
 
इसलिए चाणक्य महल नहीं झोपड़ी में रहते थे
राजदूत चाणक्य से मिलने उनके निवास स्थान गंगा तट की ओर चल पड़ा। वहां जाकर देखा कि गंगातट पर एक ऊंचा लंबा दृढ़ व्यक्तित्व का धनी नहा रहा है।
 
चाणक्य नीतिः इन 5 गुणों वाले लोग नहीं होते हैं कभी असफल
आप न केवल खुशहाल जीवन पा सकते हैं, बल्कि हर क्षेत्र में अपार सफलता आपके कदम चूमेगी। चलिए आज जानें ऐसे ही कुछ गुण, जिनको अपनाने से असफलता को भी सफलता में बदला जा सकता है…
 
जब ईश्वर चंद्र विद्यासागर ने कहा, मैं इस पद के योग्य नहीं
ईश्वर चंद्र विद्यासागर की शैक्षणिक योग्यता के विषय में जानकर एक महाविद्यालय के प्राचार्य ने उन्हें अपने कॉलेज में व्याकरणाचार्य के पद पर नियुक्त करना चाहा। इस आशय का एक पत्र लिखकर उन्हें भेजा गया। विद्यासागर ने पत्र पढ़ा तो वह सोच में पड़ गए। इस पत्र के साथ वह एक बड़ी जिम्मेदारी के महत्व पर विचार करने लगे। हालांकि विद्यासागर इस पद के लिए हर दृष्टिकोण से योग्य थे। लेकिन उनकी नजर में कोई और व्याकरणाचार्य था।
 
नंदी-योग का क्या पड़ता है आपकी राशि पर असर
व्यक्ति आम तौर पर करियर में, खासतौर से नौकरी में, बार बार उतार चढ़ाव का सामना करता है. इस योग के अशुभ प्रभाव को दूर करने के लिए शनिवार को सिरके या मूली का दान करना चाहिए.
 
परिश्रमी होते हैं वृष राशि में जन्मे लोग
परिश्रमी होते हैं वृष राशि में जन्मे लोगपरिश्रमी होते हैं वृष राशि में जन्मे लोगपंडित विजय त्रिपाठी ' विजय' के अनुसार सायन कुंडली कहती है कि जिन लोगों का जन्म वृषभ राशि में होता है वे अत्यंत संतोष और परिश्रमी होते हैं
 
मूर्ति पूजा करने से पहले धर्म को जरूर जान लें
ओशो कहते हैं कि पूजा अर्थ है खुद को जानना और शांति पाना. मंदिर में अगरबत्ती, फल-फूल चढ़ाने से पूजा संपन्न नहीं होती बल्कि खुद को जानने और शांति के अलावा मन में किसी भी प्रकार के नकरात्मक भाव को जगह ना देना ही पूजा है.
 
सोमवार को शिव पूजन से पूरी होती हर इच्छा
सोमवार को सौम्‍य भी कहते हैं। इसल‍िए श‍िव जी के ल‍िए सोमवार का द‍िन खास माना जाता है। भगवान श‍िव जी के माथे पर व‍िराजे चंद्र देव भी सोमवार के द‍िन उनका व्रत व पूजन करते थे।
 
शनि को करना है संतुष्ट तो ऐसे करें पूजा
शनिदेव की पूजा के लिए शनिवार को व्रत का संकल्प लेकर नहा-धोकर काले वस्त्र धारण कर पूजा शुरु करें। इस दिन सरसों या तिल के तेल से दिया जला शनिदेव को अर्पित करें।
 
अब एक दिन में 50 हजार लोग ही कर सकेंगे वैष्णो देवी के दर्शन
एनजीटी ने कहा कि वैष्णो देवी में पैदल चलने वालों और बैटरी से चलने वाली कारों के लिए एक विशेष रास्ता 24 नवंबर से खुलेगा. यह निर्देश भी दिया गया है कि मंदिर तक पहुंचने वाले इस नए रास्ते पर घोड़ों और खच्चरों को नहीं ले जाया जाए इतना ही नहीं इन पशुओं को धीरे-धीरे पुराने रास्ते से भी हटाया जाएगा.
 

CopyRight 2016 DanikUp.com