Breaking News
प्रियंका पर केंद्रीय मंत्री का विवादित बयान, कहा-पह्रश्वपू के बाद अब पह्रश्वपी आई  |   एनसीडब्ल्यू भेजेगा साधना सिंह को नोटिस।  |   मायावती पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर फंसी बीजेपी विधायक साधना सिंह।   |   चीन ने चांद पर उगाया कपास का पौधा अब आलू की बारी  |   कर्नाटक में सियासी सरगरमी तेज, 2 निर्दलीय विधायकों ने वापस लिया समर्थन  |  

खरी खरी

मार्गदर्शक से मूकदर्शक आडवाणी की यात्रा
भारतीय जनता पार्टी के युगपुरुष लालकृष्ण आडवाणी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। यह खबर अचंभित करने वाली नहीं है। क्योंकि अब चुनाव लडऩा या न लडऩा उनके लिए मायने नहीं रखता। सही मायने में भाजपा की सक्रिय राजनीति से आडवाणी युग का अंत 2014 में ही हो गया था, जब उनकी इच्छा के विपरीत प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी को बनाया गया था। हालांकि लोगों की ताजा घटनाक्रम में रुचि जरूर है।
 
कांग्रेस-अकाली-भाजपा ने शहीदों के नाम पर राजनीतिक रोटियां सेकी
चंडीगढ़ नरिन्दर मोदी के नेतृत्व वाली मौजूदा केंद्र सरकार और इससे पहले की कांग्रेस सरकारों पर देश की आजादी के लिए जान कुर्बान करने वाले शहीदों के प्रति आसंवेदनशील होने का दोष लगाते आम आदमी पार्टी ने कहा कि इन पार्टियों ने हमेशा शहीदों के नाम पर राजनैतिक रोटियां ही सेकी हैं।
 
चीन को चुभते दलाई लामा
चीन नोबेल शांति पुरस्कार विजेता दलाई लामा को एक खतरनाक अलगाववादी करार दिया है। पिछले दिनों उसने कहा कि 83 वर्षीय लामा "साधु के वेश में भेडिय़ा" हैं। तिब्बत पर आज चीन का पूरा नियंत्रण है। इसके बावजूद उसका दलाई लामा से इस तरह खौफ खाना अजीब है।
 
हवा का रुख भांप रहे दलबदल करने वाले!
तीन बार सांसद रह चुके पूर्व कांग्रेसी नेता अरविंद शर्मा भाजपा में शामिल हो गए। अरविंद शर्मा करनाल से 2005 और 2009 में कांग्रेस की टिकट पर जीते थे। वर्ष 2014 में उन्हें भाजपा के अश्विनी कुमार चोपड़ा ने बुरी तरह हराया था। इसके बाद वो बसपा में शामिल हो गए थे। इनेलो के पूर्व विधायक कलीराम पटवारी भी भाजपा में शामिल हो गए हैं।
 
चीन के आर्थिक हितों पर प्रहार की जरूरत
चीन ने मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किये जाने के प्रस्ताव को संरासंघ की सुरक्षा परिषद में वीटो कर दिया। यह कोई अप्रत्याशित नहीं था, सामरिक व आर्थिक हितों के नजरिये से चीन को पाक की जरूरत है। उसने चौथी बार जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने के प्रस्ताव को वीटो किया।
 
इमरान इतने उदार हैं तो मसूद अजहर को सौंपें : सुषमा
नई दिल्ली विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एक बार फिर पाकिस्तान को फटकार लगाई। सुषमा ने एक कार्यक्रम में कहा कि इमरान को बहुत बड़ा स्टेट्समैन बताया जा रहा है। मैं कहना चाहती हूं कि अगर इमरान वाकई उदार हैं तो मसूद अजहर को हमें सौंप दें। भारत-पाक के रिश्ते उसी शर्त पर सुधर सकते हैं जब वह अपने आतंकियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई करे और भारत के खिलाफ अपनी धरती से आतंकी गतिविधियां बंद करें।
 
चीनी उद्योग की नई चिंता
विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) ने भारत के खिलाफ कई शिकायतें दर्ज कराई गई हैं। डब्लूटीओ ने खुद इन शिकायतों की जानकारी दी है। शिकायत दर्ज कराने वाले देशों में ब्राजील भी है। उसका आरोप है कि भारत अपने चीनी उद्योग को अनुचित रियायतें दे रहा है। ये रियायतें डब्ल्यूटीओ के नियमों का उल्लंघन करती हैं।
 
लोकतंत्र जीतना चाहिए
रणभेरी बज गई। चुनाव की तारीखों का एलान हो गया है। अब वक्त गर्जनाओं का है। राजनीतिक दलों की गर्जना होगी। वादे होंगे। पीठ थपथपाई जाएगी। सपनों के बाग सजेंगे। क्या सच। क्या झूठ। पता लगाना मुश्किल हो जाएगा। लेकिन आपको अपना विवेक जिंदा रखना है।
 
आतंकवाद के कारण कश्मीर में सुरक्षा पर बढ़ता खर्च
धरती के स्वर्ग कश्मीर में फैला पाकिस्तान समर्थित आतंकवाद दिनोंदिन भारत सरकार के लिए महंगा साबित हो रहा है। प्रतिदिन सुरक्षा मद पर होने वाले खर्च में बेतहाशा होती वृद्धि ने सुरक्षा संबंधी खर्चों को चार सौ करोड़ प्रति वर्ष के आंकड़े तक पहुंचा दिया है।
 
रक्षा तैयारी का चिंताजनक हाल
पाकिस्तान से बढ़े तनाव का एक चिंताजनक परिणाम भारत की कमजोर रक्षा तैयारियों पर ध्यान जाना है। विदेशी अखबारों पर यकीन करें तो संकेत मिलता है कि भारत फिलहाल लंबा युद्ध लडऩे की स्थिति में नहीं है। कुछ रिपोर्टों में इस तरफ ध्यान दिलाया गया है कि भारत न तो खुद उन्नत हथियार विकसित कर पाया है, न ही उनकी खरीद के लिए तेज और पारदर्शी प्रक्रिया खोज पाया है।
 
आतंक के खात्मे का ‘अभिनंदन’ तो होना ही चाहिए
भा रतीय वायुसेना ने पीओके में आतंकी ठिकानों पर बमबारी करके यह संदेश दे दिया है कि भारत अब आतंकियों को उनके घर में घुसकर मारेगा। पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक भारत की आतंकवाद के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति का खुला पन्ना है। भारत ने एयर स्ट्राइक के साथ-साथ कूटनीति के मोर्चे पर भी पाकिस्तान को घुटने टेकने पर मजबूर किया।
 
मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने दी चेतावनी हार को देखकर एटमी हथियारों का इस्तेमाल कर सकता है पाक
अमृतसर मुख्यमंत्री कैह्रश्वटन अमरिन्दर सिंह ने जोर देकर कहा कि कोई भी मुल्क लड़ाई के पक्ष में नहीं है परन्तु उन्होंने चेतावनी दी कि पाकिस्तान अपने एटमी हथियारों का प्रयोग कर सकता है यदि उसे लगा कि वह भारत के साथ अपनी जंग हार रहा है।
 
तबाही के कगार पर खड़ा पाकिस्तान
पुलवामा आतंकी हमले के बाद पहले आर्थिक रूप से पाकिस्तान की कमर तोडऩे के लिए उससे ‘मोस्टफेवर्डनेशन’ का दर्जा वापस लिया गया, उसके बाद उसके खिलाफ ‘वाटरस्ट्राइक’ करने का निर्णय लिया गया और अब पाकिस्तान की सीमा में 80 किलोमीटर भीतर तक घुसकर की गई ‘एयरस्ट्राइक’ के जरिये भारत ने आखिरकार वो कर दिखाया है, जिसकी उम्मीद न केवल देश की जनता बल्कि पूरी दुनिया को थी कि नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत कुछ बड़ा कदम उठाने वाला है।
 
दिल्ली का बजट
दिल्ली सरकार ने अपना सालाना बजट पेश कर दिया है। हालांकि दूसरे राज्यों के बजट के मुकाबले यह काफी कम और छोटा होता है, लेकिन चूंकि दिल्ली देश की राजधानी है, इस लिहाज से दिल्ली के लिए इस बजच का एक अलग ही महत्व है। दिल्ली की जनता की की जरूरतों को पूरा करना यहां की सरकार के लिए एक चुनौतीभरा काम इसलिए है कि क्योंकि इसे अभी तक पूर्ण राज्य का दर्जा हासिल नहीं है।
 
पाकिस्तान की गुस्ताखी पर विश्व को विश्वास में लेना बेहद जरूरी......?
यद्यपि आज भारत एक बहुत कठिन दौर से गुजर रहा है, एक ओर जहां उसे अपने छयालिस सपुतों को खो देने का गम है, वहीं उस वक्त की बेसब्री से प्रतिक्षा भी है, जब भारत सरकार पाक को उसकी गुस्ताखी का जोरदार मजा चखाये और जैसे-जैसे यह प्रतिक्षा लम्बी होती जा रही है, वैसे-वैसे देश में सरकार के प्रति आक्रोश का पारा भी ऊपर चढ़ता दिखाई दे रहा है, और ऐसे वक्त में सत्तारूढ़ नेताओं के बयान याद आना स्वाभाविक है, जो उन्होंने प्रतिपक्ष में रहते हुए ज्यादा नहीं पांच साल पहले दिए थे, उनमें भी विशेष कर मौजूदा प्रधानमंत्री का वह बयान जिसमें उन्होंने सत्ता में आने पर एक भारतीय जवान की शहादत पर पाकिस्तान के दस जवानों के सिर काटकर लाने की बात कही थी, और वह कथन भी याद किया जा रहा है, जो नरेन्द्र भाई मोदी ने ‘‘आपकी अदालत’’ टीवी कार्यक्रम में कहा था, जिसमें उन्होंने कठौर शब्दों में कहा था कि- ‘‘सरकार को अब पाकिस्तान को प्रेमपत्र लिखना बंद कर ‘ईंट का जवाब पत्थर’ से देना चाहिये’’।
 
मेरे पास मोदी है
भाजपा ने अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी में साफ कर दिया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ब्रांड वैल्यू ही उनके लिए राज्यों और लोकसभा चुनाव में सबसे बड़ी पूंजी होगी। बाकी मुद्दों पर समय, स्थान और परिस्थितियों के मुताबिक भाजपा हवा देगी। मेरे पास माँ है कि तर्ज पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने एलान कर दिया है कि मेरे पास मोदी हैं। दरअसल भाजपा को लग रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का चेहरा अभी भी सब पर भारी है।
 
अमेरिका का पिट्ठू न बने भारत
अमेरिका से भारत की बढ़ती साझेदारी के बीच एक चिंता भी है कि कहीं भारत अमेरिका का पिट्ठु तो नही बन रहा है। ईरान से लेकर रूस तक भारत के अरसे पुराने विश्वसनीय दोस्तों की कीमत पर तो कुछ नही पक रहा है। भारत को अमेरिका का साथ चाहिए ये बदली परिस्थितियों का तकाजा है लेकिन क्या व्यापार से इतर दोनों देशों की बॉन्डिंग बन रही है। मेरा मानना है कि भारत के पास विकल्प सीमित हैं। चीन की ब्यूह रचना से बाहर निकलने और मुकाबले के लिए भारत को एक ताकतवर रणनीतिक भागीदार चाहिए जो चीन के चंगुल या प्रभाव से पूरी तरह मुक्त हो। रूस पहले जैसा ताकतवर नही रहा। पूर्वी छेत्र में सीमा विवाद के बावजूद रूस की रणनीतिक भागीदारी चीन के साथ बढ़ी है। पाकिस्तान के प्रति चीन का झुकाव और रूस का संतुलन भारत को एक नए ध्रुव की तलाश को विवश करता है।
 
तिलक तराजू और तलवार..रूठ गए तो
तिलक, तराजू और तलवार इनको मारो जूते चार। ये नारा कभी कांशीराम की अगुवाई में बसपा के उन कर्णधारों ने दिया था जिन्हें लगता था कि तथाकथित अगड़ी जातियों को गाली देकर दलित समुदाय की लामबंदी से सत्ता का सफर तय किया जा सकता है। मायावती ने बाद में सत्ता का मर्म समझा और जिस वर्ग को गाली देकर उन्होंने सत्ता की सियासत शुरू की थी उसे गले लगाने का सिलसिला भी उन्होंने शुरू किया। वे सर्वसमाज की बात करने लगीं। वक्त का पहिया घूमता है। तिलक तराजू और तलवार का नारा फिर से गूंज रहा है बस साथ में जुड़ गया है रूठ गए तो गई सरकार।
 
क्या सवर्ण होना गुनाह है?
क्या सवर्ण होना गुनाह है ----------------------------------- अंजना पाराशर क्या वर्ण व्यवस्था के मुताबिक सवर्ण होना गुनाह है। क्या प्रतिभा या मेधा हासिल करना और देश को उस प्रतिभा से बहुत कुछ देना अपराध है। अगर नही तो देश को बौद्धिकता, परिश्रम और विजन से आगे बढ़ाने और देश की आन बान और शान के लिए खपाने वाले समुदाय के साथ अत्यंत उपेक्षित भाव क्यों?
 
ये तो बेटी ही सोना है
जीतती रहो बेटियां हर राह तुम्हारी है धरती तुम्हारी है गगन तुम्हारा है। चारो तरफ हो रहा ये शंखनाद आने वाला हर समय तुम्हारा है। आने वाला हर समय तुम्हारा है।
 
previous123next

CopyRight 2016 DanikUp.com