Breaking News
मध्य प्रदेश् के गुना जिले में खड़े ट्रक से बस टकराई, 11 की मौत, 20 घायल।  |   एटा में गायब मासूम का शव पेड़ से लटका मिला  |   पाक ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लघंन  |   पीएम मोदी रूस के लिए रवाना, पुतिन से करेंगे अनौपचारिक मुलाकात  |   कर्नाटक में कैबिनेट के गठन पर कांग्रेस से बातचीत नहीं: कुमारस्वामी  |  

खरी खरी

चुनावी मौसम में काम करेगा शराबबंदी का शिगूफा!
चुनावी मौसम में काम करेगा शराबबंदी का शिगूफा! महिला मतदाताओं को लुभाने की कवायद, राजस्व के डर से फैसले में हिचकिचाहट नई दिल्ली। अंजना पाराशर विधानसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर एक बार फिर कर्नाटक और छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों में शराबबंदी का शिगूफा राजनीतिक दलों ने छेड़ दिया है। महिला मतदाताओं को लुभाने के नाम पर कर्नाटक में सत्ताधारी कांग्रेस शराबबंदी का राग छेड़ रही हैं जबकि छतीसगढ़ में भाजपा सरकार द्वारा समिति गठन करने के बाद अब कांग्रेस औऱ अजित जोगी की अगुवाई वाली जनता कांग्रेस इस मुद्दे को जोर शोर से उठा रही है। राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि चुनाव के वक्त शुरू की जा रही कवायद का मतदाताओं पर कितना असर पड़ेगा कहना मुश्किल है। पहले इस तरह के प्रयोग ज्यादातर राज्यों में विफल ही साबित हुए हैं।
 
खत्म करो जनता का खून चूसने वाला भ्रष्टाचार
खत्म करो जनता का खून चूसने वाला भ्रष्टाचार अंजना पाराशर भ्रष्टाचार से लड़ने के नाम पर सत्ता की सवारी कर रही भाजपा का एजेंडा क्या अब बदल गया है? क्या भ्रष्टाचारी तंत्र अपने भ्रष्टाचार को अंजाम देने में किसी भी तरह का संकोच कर रहा है?
 
प्रद्युम्न हत्याकांड: क्या सीबीआई गढ़ रही है कहानी?
क्या सीबीआई गढ़ रही है कहानी? आरुषि जैसा न हो प्रद्युम्न हत्याकांड की जांच का हश्र दैनिक यूपी का सटीक विश्लेषण देश को हिला देने वाले प्रद्युम्न हत्याकांड में सीबीआई जांच के शुरुआती निष्कर्ष ने सबको चौंका दिया है। सारा गणित उलट पुलट। हरियाणा पुलिस की एसआईटी की जांच फेल हुई या सीबीआई जांच ने मामले को उलझा दिया कहना मुश्किल है। लेकिन हमें मानकर चलना चाहिए कि हत्याकांड की गुत्थी सुलझना इतना आसान नही है।
 
पठानकोट और 26/11 के दोषियों पर कार्रवाई करे पाक - भारत,अमेरिका
भारत और अमेरिका ने एक संयुक्त वक्तव्य जारी कर आतंकवाद को प्रश्रय देने वालों के लिए सख्त संकेत देते हुए कट्टर इस्लामी आतंकवाद को मूल रूप से नष्ट करने का संकल्प लिया है।
 
भारत ने कहा कश्मीर में किसी का दखल मंजूर नही
भारत ने आज स्पष्ट किया कि कश्मीर समस्या के समाधान के लिए किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की जरूरत नहीं है और संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस को भी भारत के इस रुख से अवगत करा दिया गया है।
 
यह भाजपा की नहीं पीएम मोदी की जीत
उत्तरप्रदेश चुनाव की प्रचंड प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जीत है। बिल्कुल ठीक कहा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने यह भारतीय राजनीति में नए युग की शुरुआत है। और इसे मोदी युग कहा जाए तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। एक समय था जब इंदिरा इज इंडिया। इंडिया इज इंदिरा का नारा गंूजता था। समय बदल गया है। अब हर हर मोदी घर घर मोदी का नारा गंूज रहा है। पंजाब में कांग्रेस जरूर जीती है लेकिन वहां भी राहुल गांधी का कोई योगदान नहीं है।
 
मुलायम की दूसरी पत्नी की जंग का एलान
मुलायम परिवार में रार की असली वजह परदे से निकलकर सामने आ गई हैं। साधना यादव ने खुलकर बगावत का संकेत दे दिया है। लगता है साधना को ये संकेत मिल गया है कि अखिलेश सरकार सत्ता में नहीं आने वाली। या फिर उनकी बहू यानी प्रतीक यादव की पत्नी अपर्णा यादव चुनाव नहीं जीत रही हैं।
 
निर्मम सत्ता: बाप बेटे की कलह में कहाँ खोया समाजवाद
सत्ता बहुत ही निर्मम होती है। सारे रिश्ते गौड़ हो जाते हैं अगर सामने सत्ता का सिंहासन नजर आ रहा हो। जिस पिता ने बेटे को बड़े शान से गद्दी पर बैठाया उसे ही पार्टी से बाहर निकालना पड़ा।
 
मां तुझे सलाम
दीपावली वीर सेनानियों के नाम है तो साथ में उन माँओं के नाम भी होना चाहिए जो इन वीर सपूतों को जन्म देती है। पालती है,पोसती है। रात भर जागकर बच्चे को सुख की नींद सुलाती है।
 
शोषण से मिलेगी आज़ादी
तलाक तलाक तलाक और जिंदगी खत्म। भला कैसे? अर्से से हो रहा है इसलिए चलने दो। न तो धर्म इसे मान्यता देता है न समाज में इस मान्यता से भलाई का रास्ता खुलता है। फिर भी चलने दो। क्यों? क्योंकि हमारे चंद मौलवी साहब इसे धार्मिक चोला पहनाये हुए हैं। ये बिल्कुल वैसा है जैसे अर्से तक सती प्रथा चलती रही। जब समाज सुधार की प्रक्रिया शुरू हुई तो जबरदस्त विरोध हुआ। लेकिन जीत अंततः सत्य की हुई। ये कुप्रथा अपराध के दायरे में आ गई। बाल विवाह अभी भी किसी कोने में होते होंगे लेकिन कानूनन अपराध बनाने के बाद अब ये भी आम नहीं रहा। न जाने कितने बचपन उजड़ने से बच गए।
 
अमेरिका इजरायल की तरह जवाब दे भारत
पाकिस्तान के साथ सिंधु नदी समझौते की प्रधानमंत्री समीक्षा कर रहे हैं। समझौता एक्सप्रेस को लेकर तरह तरह की अटकलें हैं। पाकिस्तान को दी गई तमाम रियायतें भारत ख़त्म कर सकता है। ये चर्चा भी सियासी गलियारे में है। लेकिन लाख टके का सवाल बना हुआ है कि क्या भारत अमेरिका इजराइल जैसे देशों की तरह अपने ऊपर होने वाले हमलों का जवाब देने का साहस जुटा पायेगा। या देशवासियों को एक बार फिर जुबानी जंग देखने के बाद गले मिलने का आडम्बर ही देखने को मिलेगा।
 
धर्म से सीखे स्वच्छता का संदेश
मनु स्मृति में धर्म के दस लक्षण बताये गए। याज्ञवल्क्य ऋषि ने नौ लक्षण बताये। श्रीमद भागवत के सप्तम स्कन्ध में सनातन धर्म के तीस लक्षण बताये गए। इन सभी में एक साझा लक्षण स्वच्छता का है। आप धर्म,पुराण,उपनिषद के पन्नों को उलटिये आपको स्वच्छता का अन्तर्निहित सन्देश जरूर मिलेगा।
 
देशभर में बैंकों की एकदिवसीय हड़ताल
केंद्र सरकार की बैंकिंग क्षेत्र की नीतियों के विरोध में देशभर के निजी और राष्ट्रीयकृत बैंकों के लगभग 10 लाख कर्मचारियों की एकदिवसीय हड़ताल के मद्देनजर शुक्रवार को बैंकों में कामकाज बंद हैं। अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (एआईबीईए) के महासचिव सी.एच.वेंकटचालम ने चेन्नई में को बताया, "इस हड़ताल को अच्छी प्रतिक्रिया मिली है, क्योंकि इससे देशभर के लगभग 10 लाख कर्मचारी जुड़ गए हैं। अधिकांश राष्ट्रीयकृत बैंक बंद हैं।"
 
जरूर पढ़े बेहद खतरनाक होता आतंक का क्रूर चेहरा
ये पूरी दुनिया के लिए संक्रमण काल है। आतंक का नेटवर्क पहले भी काफी व्यापक था। लेकिन उसके चेहरे स्पष्ट थे। हमें पता था कि अलकायदा कहाँ है। लश्कर कहाँ है। तालिबान कहाँ है। इनके आका कौन हैं। और इनका इन्ट्रेस्ट क्या है। लेकिन आतंक का नया चेहरा बेहद भयावह है। इसके रंग,रूप, आकार का पता लगा पाना बेहद कठिन।
 
पूर्व सांसद,भाजपा नेता रमेश चंद्र तोमर का मोदी सरकार के दो साल पर विशेष आलेख
दो साल होने को आए लेकिन मानसून की बेरुखी का जो असर देश के किसान और खेती पर होना चाहिए था वह बेहद नगण्य रहा। भले ही कृषि क्षेत्र की विकास की रफ्तार वह नहीं रह पाई जो अपेक्षित थी। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार की नीतियों ने किसानों पर होने वाले दुष्प्रभावों को काफी हद तक कम कर दिया।
 
इतिहास बदला राजनीतिक भूगोल भी
भारतीय राजनीति की अद्भुत घटना। असम में भाजपा की जीत। इतिहास करवट बदल रहा है। राजनीतिक दलों का भूगोल बदल रहा है। कभी कन्याकुमारी से कश्मीर तक फैले होने का दावा करने वाली कांग्रेस आज 5 - 6 राज्यों तक सिमटकर छेत्रीय दलों की हैसियत में आती जा रही है। दूसरी तरफ दो लोकसभा सीटों से शुरुआत करके 2014 में भाजपा का लोकसभा में प्रचंड बहुमत और आज नार्थईस्ट के एक राज्य में पूर्ण बहुमत की सरकार। निश्चित ही ये भाजपा और संघ के लिए स्वर्णिम काल है।
 
उत्तराखंड में बहुमत परीक्षण लोकतंत्र की जीत
संविधान एवं राज्य की जनता की विजय करार दिया है। कांग्रेस के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने यहां पार्टी की नियमित प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि उत्तराखंड विधानसभा में बहुमत परीक्षण की प्रक्रिया बहुत अनुशासनात्मक, शांत और संविधान सम्मत रही है।
 
यूपी की शह मात में कौन है आगे
उत्तरप्रदेश में कौन होगा शहंशाह? किसके हाथ आएगी सत्ता? अखिलेश करेंगे वापसी या माया के सिर सजेगा ताज? राहुल- प्रियंका की जोड़ी कुछ कर पाएगी? भाजपा लोकसभा चुनाव का जादू दोहरा सकेगी। कौन होगा भाजपा का तारणहार? चुनाव अभी थोड़ा दूर हैं। लेकिन ऐसे ही तमाम सवालों ने मौसम को चुनावी रंग में रंग दिया है।
 
कोई यूँ ही विराट नहीं होता
कोहली की विराट पारी ने भारत को असंभव सी लग रही जीत से रूबरू करा दिया। शायद विराट जैसी शख्सियत के लिए ही कहा जाता है,कुछ भी असंभव नही है।
 
धोनी को देखो,खेलो संकल्प की होली
रंग पर्व होली की असीम शुभकामनाएं। रंगों का त्यौहार पूरी रंगत से मनाएं। भारत ने बांग्लादेश पर एक रन की रोमांचक जीत दर्ज करके होली का रंग फीका होने से बचा लिया। पूरा देश 20-20 वर्ल्ड कप में भारत की उम्मीदें बरक़रार रहने से बेहद खुश है। उम्मीदों पर जीवन टिका है। इन उम्मीदों को आपका संकल्प पंख लगा देता है।
 
previous12next

CopyRight 2016 DanikUp.com