Breaking News
सपा की टोपी लगा डीएम के पास पहुंचा सिपाही बोला योगी सरकार को बर्खास्त करो  |   सीएम योगी पर आपत्तिजनक टिह्रश्वपणी करने का मामला सुप्रीम कोर्ट ने दिया पत्रकार प्रशांत की रिहाई का आदेश  |   ९ दिन से लापता एएन-32 विमान का मिला सुराग  |   भारत और द. अफ्रीका में मुकाबला आज  |   विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटे सभी दल  |  

धर्म

गुरुग्राम विश्वविद्यालय में एकादशी पर लगाई छबील
गुरुग्रामत्न गुरुग्राम विश्वविद्यालय में गुरु नानक जी के 550वें जन्मोत्सव के अवसर पर निर्जला एकादशी के दिन मीठे पानी की छबील और भण्डारे का आयोजन किया गया। गुरुग्राम विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर डॉ. मार्कण्डेय आहुजा और नीमराणा के संत बाबा शंकरनाथ ने राहगीरों को प्रसाद देकर भण्डारे का शुभारंभ किया।
 
केदारनाथ के दर्शन का पुण्य मिलता है यहां
भागवान शिव के वैसे तो कई मंदिर हैं पर जोतिबा कोल्हापुर के उत्तर में पहाड़ों से घिरा एक खूबसूरत मंदिर अलग तरह का है। इस मंदिर की मान्यता स्थानीय लोगों में ज्योतिर्लिंग के समान है। लोग इसे केदारलिंगम कहते हैं। इसके दर्शन से केदारनाथ के दर्शन का पुण्य मिलता है।
 
मुख्यमंत्री ने माता वैष्णों देवी यात्रा को झंडी दिखाकर कटरा को किया रवाना
गुरुग्राम विधायक उमेश अग्रवाल के संयोजन में चल रही माता वैष्णों देवी यात्रा 2019 के तहत दर्शन श्रद्धालुओं की बसों को बुधवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने माता के जयकारे के बीच झंडी दिखाकर रवाना किया। मुख्यमंत्री ने हाथ हिलाकर यात्रियों का अभिवादन किया और अपनी शुभकामनाएं दी। सीएम को सामने देख श्रद्धालुओं में भी खुशी का ठिकाना नहीं रहा और उन्होंने भी प्रति उत्तर में हाथ हिलाकर मुख्यमंत्री का आभार जताया। मुख्यमंत्री ने विधायक उमेश अग्रवाल को गुरुग्रामवासियों को माता वैष्णों देवी के दर्शन कराने के लिए बधाई दी।
 
वैष्णों देवी दर्शनार्थ यात्रियों के जत्थे को सीएम करेंगे रवाना
गुरुग्राम वैष्णों देवी दर्शनार्थ आठवें जत्थे में शामिल तीर्थयात्रियों को सीएम मनोहर लाल बुधवार को झंडी दिखाएंगे। सीएम यहां कोर्ट के नजदीक स्थित पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस से तीर्थयात्री से भरी बसों को कटरा के लिए रवाना करेंगे। इस मौके पर विधायक उमेश अग्रवाल भी मौजूद रहेंगे।
 
माता वैष्णों देवी दर्शन यात्रा शहर में श्रद्धा और आस्था का माहौल
गुरुग्राम विधायक उमेश अग्रवाल के संयोजन में चल रही माता वैष्णों देवी दर्शन यात्रा-2019 की बदौलत पूरे गुरुग्राम शहर में श्रद्धा और आस्था का माहौल बना दिखाई दे रहा है। दर्शन यात्रा से लौटकर काफी श्रद्धालु अपने घरों में कन्या पूजन और प्रसाद तैयार करा रहे हैं जिसकी वजह से वैष्णों माता के दर्शन करने न जा पाने वाले लोग भी किसी न किसी रूप में इस अनुष्ठान में शामिल हो रहे हैं।
 
धर्म पर अडिग रहते हुए शहीद हुए गुरु अर्जुन देव जी-बिल्ला
समालखात्नगुरुद्वारा नानक दरबार साहिब में पांचवें गुरुअर्जुन देव जी का शहीदी दिवस समूह संगत ने बड़ी श्रद्धाभाव के साथ मनाया। भाई गुरमुख सिंह ने गुरबाणी कीर्तन का गायन करते हुए संगत को गुरु चरणों के साथ जोड़ते हुए निहाल किया। प्रधान जगतार सिंह बिल्ला ने कहा कि मुगल बादशाह जहांगीर ने गुरु अर्जुन देव जी को इस्लाम धर्म कबूल करने के लिए कहा लेकिन गुरु जी अपने धर्म पर अडिग रहे। जिसके बाद उन्हें घोर यातनाएं देकर शहीद करने का हुक्म दिया। गुरु जी को उबलते पानी में डाला गया, गर्म रेत डाली और गर्म तवे पर बिठाया गया। इतनी यातनाएं झेलते हुए गुरु जी करतार का भाना मीठा लागे को मानते शहीद हो गए। गुरुद्वारा में श्री गुरु ग्रंथ साहिब के समक्ष चढ़दीकलां की अरदास की गई। सैवंटी माईल स्टोन ढाबा के मालिक सरदार रेशम सिंह को सिरोपा देकर सम्मानित किया तथा इस अवसर पर अमनदीप सिंह, जोनी, शाम सिंह, जीवन सिंह, शेर सिंह, जिम्मी, नारायण दास, सुरेन्द्र सिंह, अमित छाबड़ा आदि मौजूद थे।
 
गीता के समता योग से युक्त है उमेश अग्रवाल का वैष्णों देवी तीर्थयात्रा प्रबंध : स्वामी धर्मदेवजी महाराज
गुरुग्राम विधायक उमेश अग्रवाल के संयोजन में चल रही माता वैष्णों देवी दर्शन यात्रा के छठे जत्थे को शनिवार को पटौदी आश्रम हरि मंदिर के अधिष्ठाता महामंडलेश्वर स्वामी धर्मदेवजी महाराज ने झंडी दिखाकर रवाना किया। इस मौके पर विधायक उमेश अग्रवाल सहित यात्रा प्रबंध से जुड़े कार्यकर्ता मौजूद थे।
 
माता वैष्णों देवी दर्शन यात्रा व्यवस्था और कन्या व ब्राह्मण पूजन से अभिभूत हैं श्रद्धालु
गुरुग्राम विधायक उमेश अग्रवाल के संयोजन में गुरुग्राम से चल रही माता वैष्णों देवी दर्शन यात्रा 2019 के तहत सात जून की सुबह तक पांच हजार से अधिक श्रद्धालु माता के दर्शन कर लौट चुके हैं जबकि दो हजार से अधिक तीर्थयात्री कटरा से भवन के रास्ते में हैं। शनिवार को करीब दो हजार तीर्थयात्री माता वैष्णों देवी के लिए रवाना होंगे।
 
16 सौ से अधिक वैष्णों देवी तीर्थ यात्रियों को रवाना किया गया
गुरुग्राम माता वैष्णों देवी दर्शन को मंगलवार को चौथे जत्थे में 16 सौ से अधिक श्रद्धालु कटरा के लिए रवाना हुए। विधायक उमेश अग्रवाल की मौजूदगी में एमडीएच मशाले के चेयरमैन प्रसिद्ध वयोवृद्ध उद्योगपति महाशय धर्मपाल और गुरुग्राम की मेयर मधु आजाद ने चंदू गांव स्थित रामगढ़ फॉर्म से झंडी दिखाकर यात्रियों को रवाना किया।
 
सौभाग्य देने वाला व्रत- वट सावित्री व्रत
वट सावित्री व्रत सौभाग्य को देने वाला और संतान की प्राप्ति में सहायता देने वाला व्रत माना गया है। भारतीय संस्कृति में यह व्रत आदर्श नारीत्व का प्रतीक बन चुका है। इस व्रत की तिथि को लेकर भिन्न मत हैं। स्कंद पुराण तथा भविष्योत्तर पुराण के अनुसार ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को यह व्रत करने का विधान है, वहीं निर्णयामृत आदि के अनुसार ज्येष्ठ मास की अमावस्या को व्रत करने की बात कही गई है।
 
बद्रीनाथ धाम से जुड़ी है ये मान्यता
बद्रीनाथ धाम हिन्दुओं के चार धामों में से एक धाम है। यह अलकानंदा नदी के किनारे उत्तराखंड राज्य में स्थित है। यहां भगवान विष्णु 6 माह निद्रा में रहते हैं और 6 माह जागते हैं। बद्रीनाथ धाम से जुड़ी ये बातें अहम हैं। बद्रीनाथ धाम से जुड़ी एक मान्यता है कि जो आए बदरी, वो न आए ओदरी। इसका मतलब जो व्यक्ति बद्रीनाथ के दर्शन एक बार कर लेता है उसे दोबारा माता के गर्भ में नहीं प्रवेश करना पड़ता।
 
महर्षि कश्यप का अवतार दिवस धूमधाम से मना
घरौंडा सृष्टि रचयिता महर्षि कश्यप का अवतार दिवस बड़ी श्रद्धा और धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर शहर के वार्ड संख्या सात स्थित शिव मंदिर में कश्यप समाज की और से विश्व शान्ति व सृष्टि सुरक्षा के लिए हवन किया गया। समाज के सम्मानित लोगो ने सप्त महर्षि कश्यप व गुरु कालिदास की चरणों में नमन करते हुए पुष्प अर्पित किये। कार्यक्रम में बतौर मुख्याथिति पहुचे आर. डी कश्यप ने कहा की सृष्टि सर्जन के बाद महर्षि कश्यप ने समाज को मानवता का सन्देश दिया है और इस धरा पर जीवन सभी के तालमेल से बेहतर होगा।
 
व्यक्ति को हमेशा अच्छे कर्म करने चाहिए: स्वामी ज्ञानानंद जी
करनाल मुख्यमंत्री मनोहर लाल के ओ.एस.डी. अमरेंद्र सिंह के दादा स्वर्गीय चंद्र बली सिंह की श्रद्धांजलि सभा का आयोजन आज सैक्टर-14 स्थित कृष्णा मंदिर में किया गया। भारी संख्या में राजनीतिक, सामाजिक और धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों व लोगों ने स्वर्गीय चंद्र बली सिंह को श्रद्धासुमन अर्पित किए।
 
नानक जी के 550वें जन्म उत्सव पर कार्यक्रम
गुरुग्राम विश्वविद्यालय में गुरु नानक देव जी के 550वें जन्म उत्सव को लेकर गुरुग्राम विश्वविद्यालय के साथ श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय ने ग्लोबल इंसप्रेशन एंड एनलाइटमेंट ऑर्गनाइजेशन ऑफ गीता के सहयोग से कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि समारोह में महामंडलेश्वर गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज ने शिरकत की।
 
अक्षय तृतीया : शुभ मुहूर्त के लिए विशेष महत्व
अक्षय तृतीया या आखा तीज वैशाख मास में शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को कहते हैं। पौराणिक ग्रंथों के अनुसार इस दिन जो भी शुभ कार्य किये जाते हैं, उनका अक्षय फल मिलता है. इसी कारण इसे अक्षय तृतीया कहा जाता है। वैसे तो सभी बारह महीनों की शुक्ल पक्षीय तृतीया शुभ होती है, किंतु वैशाख माह की तिथि स्वयंसिद्ध मुहूर्तो में मानी गई है।
 
सौभाग्य का प्रतीक अर्थात् वरुथिनी एकादशी व्रत
इस बार वरुथिनी एकादशी व्रत मंगलवार 30 अप्रैल 2019 को है। इस व्रत की अपनी महत्वता है। कहा जाता है कि जो वरुथिनी एकादशी की व्रत पूजा करता है उसे भगवान विष्णु का आशीर्वाद मिलता है। व्रतधारी को सौभाग्य प्राप्त होता है, इस प्रकार यह व्रत सौभाग्यशाली ही रख पाते हैं।
 
भगवान भैरव की साधना-अराधना का दिन
भगवान भैरव शक्तिशाली रुद्र रुप के लिए जाने जाते हैं। भगवान भैरव एक ऐसे देवता हैं जिनकी साधना करने वाले भक्त पर किसी भी प्रकार की ऊपरी बाधा, भूत-प्रेत, जादू-टोने आदि का खतरा नहीं होता है। ऐसे ही शक्तिशाली भगवान भैरव की प्रत्येक माह के कृष्णपक्ष की अष्टमी को साधना-अराधना होती है। कालाष्टमी की तिथि पर भगवान भैरव की विशेष रूप से साधना आराधना का अपना ही महत्व है।
 
यहां है भगवान परशुराम का तप स्थल
झारखंड के गुमला जिले में भगवान परशुराम का तप स्थल है। यह जगह रांची से करीब 150 किमी दूर है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, भगवान परशुराम ने यहां शिव की घोर उपासना की थी। यहीं उन्होंने अपने परशु यानी फरसे को धरती पर रख दिया था। इस फरसे की ऊपरी आकृति कुछ त्रिशूल से मिलतीजुलती है।
 
श्री दादी शरणम् द्वारा आयोजित श्री नारायणी भजनोत्सव
गुरुग्रामत्नप्रकृति के संरक्षण और अपने बुजुर्ग माता पिता को समर्पित अपनी कुल देवी नारायणी माँ श्री राणी सती जी की सनातन धर्म पूजा से प्रेरित यह संस्था च्च् दादी शरणम् गुरुग्राम हरियाणा ने अपना तृतीय वार्षिकोत्सव भजन एवं सामाजिक उत्सव 21 अप्रैल रविवार को गुरुग्राम स्थित कोरस बैक्वेट में बड़े हर्षोउल्लास के साथ मनाया गया।
 
गुड फ्रायडे : त्याग और बलिदान का दिन
पुण्य शुक्रवार यानी गुड फ्र ायडे ईसाई धर्म का पालन करने वालों के लिए एक पवित्र एवं त्याग का दिन होता हैं। इस दिन ईसा मसीह को सूली पर चढ़ाया गया था। इस दिन ईसाई समाज के लोग ईसा मसीह की कुर्बानी, त्याग, बलिदान को याद करते हैं। इसके लिए ईसाई समाज के लोग 40 दिन के उपवास परहेज एवं प्रार्थना के साथ तैयारी करते हैं।
 
previous1234567next

CopyRight 2016 DanikUp.com